Total Pageviews

21 November 2017

ओएमएसएस के तहत केवल 5 लाख टन गेहूं की हुई बिक्री

आर एस राणा
नई दिल्ली। खुले बाजार बिक्री योजना (ओएमएसएस) के तहत भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) अभी तक केवल 5 लाख टन गेहूं की बिक्री ही कर पाई है। एफसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार इसमें से 1.84 लाख टन गेहूं की खरीद रोलर फ्लोर मिलों ने की है, जबकि अन्य गेहूं राज्य सरकारों ने खरीदा है।
एफसीआई ने ओएमएसएस के तहत 10.88 लाख टन और गेहूं बेचने के लिए निविदा मांगी है, तथा गेहूं खरीदने के लिए न्यूनतम भाव एफसीआई ने 1,790 रुपये प्रति क्विंटल तय किया हुआ है जबकि उत्पादक राज्यों में भाव नीचे हैं, इसीलिए फ्लोर मिलें एफसीआई से खरीद कम कर रही हैं।
एफसीआई ओएमएसएस के तहत सबसे ज्यादा गेहूं का आवंटन महाराष्ट्र के लिए 2.92 लाख टन का किया है, इसके अलावा हरियाणा के लिए 2.77 लाख टन, पंजाब के लिए 1.45 लाख टन, मध्य प्रदेष के लिए 1.15 लाख टन और पश्चिमी बंगाल के लिए 60 हजार टन गेहूं का आवंटन किया है। इसके अलावा उड़ीसा के लिए 50 हजार टन, तमिलनाडु के लिए 25 हजार टन, कर्नाटका के लिए 23,700 टन तथा राजस्थान के लिए 20 हजार टन गेहूं का आवंटन किया है। दिल्ली के लिए 16 हजार टन, उत्तर प्रदेश के लिए 15 हजार टन, तथा चंडीगढ़ के लिए 12 हजार टन, केरल के लिए 10,700 टन, आंध्रप्रदेश के लिए 6,500 टन तथा उत्तराखंड के लिए 4,500 टन गेहूं का आवंटन किया है। ................   आर एस राणा

20 November 2017

अरहर और उड़द वायदा के लिए सेबी से मंजूरी मांगी

चना वायदा के बाद एनसीडीईएक्स पर जल्द ही अरहर और उड़द वायदा भी शुरू हो सकता है। एक्सचेंज ने इसके लिए सेबी से मंजूरी मांगी है। दूसरी तरफ सूत्रों से जानकारी मिली है कि दाल का एक्सपोर्ट खुलने के बाद सेबी इस मुद्दे पर तेजी से विचार शुरू कर दिया है।

कच्चे तेल में बेहद सुस्त कारोबार

कच्चे तेल में बेहद सुस्त कारोबार हो रहा है। बाजार की नजर 30 नवंबर को ओपेक की बैठक पर है। माना जा रहा है कि बैठक में अगले साल मार्च के बाद भी उत्पादन कटौती जारी रखने पर सहमति बन सकती है। हालांकि अमेरिका में क्रूड का उत्पादन तेजी से बढ़ रहा है। इस बीच चीन में स्टील की कीमतों में आई तेजी से निकेल का दाम करीब 1.5 फीसदी उछल गया है। आज डॉलर के मुकाबले रुपये में हल्की मजबूती आई है। अमेरिका में कल फेडरल रिजर्व की अक्टूबर मिटिंग का ब्यौरा जारी होगा और इससे पहले सोने की चाल फिर से सुस्त पड़ गई है। कल डॉलर में उछाल से इसमें भारी गिरावट आई थी और भाव 1280 डॉलर के नीचे आ गए थे। लेकिन आज फिर से निचले स्तर से सोना सपोर्ट ले रहा है। अमेरिका और उत्तर कोरिया को लेकर चल रहे तनाव से सोने को सहारा मिला है। सोने के साथ चांदी को भी सपोर्ट मिला है, लेकिन बढ़त के बावजूद चांदी सतरह डॉलर के नीचे बनी हुई है।


चालू पेराई सीजन में 13.73 लाख टन चीनी का हो चुका है उत्पादन

आर एस राणा
नई दिल्ली। पहली अक्टूबर 2017 से शुरु हुए चालू पेराई सीजन 2017-18 में 15 नवंबर तक चीनी का उत्पादन बढ़कर 13.73 लाख टन का हो चुका है जबकि पिछले पेराई सीजन की समान अवधि में चीनी का उत्पादन केवल 7.67 लाख टन का ही हुआ था।
इंडियन शुगर मिल्स एसोसिएशन आफ इंडिया (इस्मा) के अनुसार चालू पेराई सीजन में चीनी मिलों में पेराई जल्दी आरंभ होने से चीनी के उत्पादन में बढ़ोतरी हुई है। इस समय देशभर में 313 चीनी मिलों में पेराई आरंभ हो चुकी है, जबकि पिछले साल की समान अवधि में इस दौरान केवल 222 चीनी मिलों में ही पेराई आरंभ हुई थी। चालू पेराई सीजन में चीनी का उत्पादन ज्यादा होने का अनुमान है, जबकि केंद्र सरकार ने चीनी पर स्टॉक लिमिट की अवधि को 31 दिसंबर 2017 तक किया हुआ है, अतः इस्मा ने केंद्र सरकार से चीनी पर लगी स्टॉक लिमिट को हटाने की मांग की है, ताकि चीनी की कीमतों में चल रही गिरावट रुक जाए।  सोमवार को दिल्ली में चीनी के भाव घटकर 3,850 से 3,900 रुपये प्रति क्विंटल रहे।
उत्तर प्रदेश में चालू पेराई सीजन में अभी तक 5.67 लाख टन चीनी का उत्पादन हो चुका है जबकि पिछले साल की समान अवधि में केवल 1.93 लाख टन चीनी का ही उत्पादन हुआ था। राज्य की 78 चीनी मिलों में पेराई आरंभ हो चुकी है जबकि पिछले साल इस समय तक केवल 55 चीनी मिलों में ही पेराई आरंभ हुई थी। महाराष्ट्र में चालू पेराई सीजन में 15 नवंबर तक 3.26 लाख टन चीनी का उत्पादन हो चुका है जबकि पिछले साल इस समय तक केवल 1.92 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ था। राज्य में 137 चीनी मिलों में पेराई आरंभ हो गई है जबकि पिछले साल इस समय तक केवल 95 चीनी मिलों में ही पेराई आरंभ हो पाई थी। ............  आर एस राणा

19 November 2017

केंद्र ने 85 हजार टन अरहर के आयात को दी मंजूरी

आर एस राणा
नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने 85 हजार टन अरहर के आयात को मंजूरी दे दी है। इसका आयात मौजाम्बिक से किया जायेगा, तथा आयातित अरहर मुंबई, कोलकत्ता, तूतीर्कोन और हजारी बंगदरगाह पर आयेगी।
केंद्र सरकार द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार सरकार ने मौजाम्बिक से 1.25 लाख टन अरहर के आयात को मंजूरी दी थी, इसमें से 40 हजार टन अरहर का आयात पहले ही हो चुका था, उसके बाद केंद्र सरकार ने चालू वित्त वर्ष 2017-18 के लिए अरहर के आयात की 3 लाख टन की सीमा कर दी थी, जिसका आयात पहले ही हो चुका है। अतः अब 85 हजार टन अरहर के अरहर के आयात की अधिसूचना फिर से जारी की गई है।.........  आर एस राणा

डॉलर में सुस्ती के बावजूद ग्लोबल मार्केट में सोना 1 महीने के ऊपरी स्तर पर

डॉलर में सुस्ती के बावजूद ग्लोबल मार्केट में सोना 1 महीने के ऊपरी स्तर पर चला गया है। कॉमैक्स पर ये 1290 डॉलर के ऊपर कारोबार कर रहा है। अब ऊपरी स्तर से दबाव है। वहीं पिछले हफ्ते की तेजी के बाद चांदी में करीब 1 फीसदी की गिरावट आई है। अगले महीने अमेरिका में ब्याज दरें ब‍ढ़ने का अनुमान है। ऐसे में सोने और चांदी की तेजी टिक नहीं सकी। कच्चे तेल में बेहद छोटे दायरे में कारोबार हो रहा है। इस महीने के अंत में विएना में ओपेक की अहम बैठक है। जिस पर बाजार की नजर है। आज डॉलर के मुकाबले रुपये में सुस्ती है।

18 November 2017

एग्री कमोडिटी में आगे की रणनीति कैसे बनाए

एग्री कमोडिटी दलहन, तिलहन, और मसालों के साथ ही गेहूं, मक्का, जौ, कपास, खल, बिनौला, ग्वार सीड, चीनी, और कपास आदि की कीमतों में कब आयेगी तेजी तथा आगे की रणनीति कैसे बनाये, भाव में कब आयेगी तेजी, किस भाव पर स्टॉक करने पर मिलेगा मुनाफा, क्या रहेगी सरकार की नीति, आयात-निर्यात की स्थिति के साथ ही विदेष में कैसी है पैदावार, इन सब की स्टीक जानकारी के लिए हमसे जुड़े............एग्री कमोडिटी की दैनिक रिपोर्ट के साथ ही मंडियों के ताजा भाव आपको ई-मेल से हिंदी में भेजे जायेंगे एग्री जिंसों के अलावा किराना में हल्दी, जीरा, धनिया, लालमिर्च, इलायची, कालीमिर्च आदि की जानकारी भी हिंदी में ई-मेल के माध्यम से दी जायेगी।
............एक महीना रिपोर्ट लेने का चार्ज मात्र 1,000 रुपये, 6 महीने का 5,000 रुपये और एक साल का केवल 8,000 रुपये........
एग्री कमोडिटी की दैनिक रिपोर्ट के लिए ----------------हमें ई-मेल करे या फिर फोन पर संपक करें।

आर एस राणा
rsrana2001@gmail.com
rsrana2017@yahoo.com
mobile no.  09811470207 , 07678684719